Skip to content

Haridwar me 1 Lakh tak Ka Kaam Kaise Shuru Kare?

Haridwar me 1 Lakh tak Ka Kaam Kaise Shuru Kare

Haridwar me 1 Lakh tak Ka Kaam Kaise Shuru Kare?

Doston yadi aap Haridwar me ek Lakh tak ka koi kaam dekh rahe hain to aap bilkul sahi jagah aaye ho. Hum aaj ke artilce me aapko acche se samjha denge ki aap Haridwar me 1 Laakh tak ka business kaise set kar sakte hain. Waise to Haridwar Shahar me aap koi bhi kaam kar lo aapko saflata jarur mil jayegi.

Haridwar me dur dur se roz hajaro ki sankhya me yaatri ganga sanan kar ne ke liye aate hain, Jo kum se kum 2 se 3 din tak Haridwar me hi rukte hain. Maa Mansa Devi Temple, Maa Chandi Devi Temple, Har Ki Pauri, Saptrishi, Bharat Mata Mandir, Jairam Ashram, Bhim Gauda, aadi pavitra Tirtho par yatra karte hain.

Itne traffic ke aane ki vajah se Haridwar me har trah ka business chal jata hain or aap bhi yahan ek laakh tak koi koi business aaram se kar sakte hain. Aaj is post me hum aapko yahi bataane wale hain ki aap Haridwar me rahkar koi 1 lakh tak ka kaam dhandha kaise setup kar sakte hain.

Haridwar me 1 Lakh tak Ka Kaam Kaise Shuru Kare?

Chaliye ab hum aapko Haridwar me 1 Lakh tak Ka Kaam Kaise Shuru Kare ke baare me vistar se jankari dete hain. To doston aap Agar pavitra shahar Haridwar me ek lakh tak ka kaam dhandha karna chahte hain to aaapko hum 5 aise kaam ke baare me batayenge jisko karke aap accha khasa paisa kama sakte ho.

1. Juice Corner – Haridwar me 1 Lakh tak Ka Kaam Kaise Shuru Kare?

Juice ki dukaan shuru karane ke lie aapko ek planing ki jaroorat padegi. jiske anusaar aap kaam karake apne business mein aage badh sakate hain. Planing mein aapko yah tay karna hoga ki aap kis kshetra mein apni dukaan kholenge, aapko joos ki masheen kahaan se milegee, poonji ki vyavastha kaise karani hai aur graahakon tak kaise pahunchana hai. iske baad aap is business ko bahut aasani se shuroo kar sakenge.

हरिद्वार में जूस की दुकान खोलने के लिए आपको निम्नलिखित चीजों की आवश्यकता होगी –

  1. फल और सब्जियाँ :- सबसे पहले फलों और सब्जियों की आवश्यकता होगी जो एकदम ताज़ी होनी चाहिए।
  2. बर्फ :- इसके अलावा बर्फ भी होनी चाहिए क्योंकि गर्मियों में लोग जूस में बर्फ डालकर ठंडा जूस पीना पसंद करते हैं।
  3. सूखे मेवे:- सूखे मेवों से जूस भी बनता है इसलिए आप इसे भी अपनी दुकान में जरूर रखें. आपको बता दें कि कई लोग अलग-अलग फलों के जूस में ऊपर से ड्राई फ्रूट्स डालकर पीना पसंद करते हैं।

आपने देखा कि हरिद्वार में जूस की दुकान खोलने के लिए आपको किन कच्चे माल की आवश्यकता होगी। अब हम आपको बताते हैं कि इसके अलावा आपको और क्या चाहिए होगा।

तो हम आपको बता दें कि आपको कुछ जरूरी मशीनरी और बर्तनों की जरूरत पड़ेगी। इसमें कुल 3 तरह की जूसर मशीनें हैं, आपको तीनों की जरूरत पड़ेगी। आपको फ्रिज भी रखना होगा क्योंकि अगर आपको अपने फलों और सब्जियों को स्टॉक करना है तो यह बहुत जरूरी है। इसके अलावा आपको कुछ औजारों की भी आवश्यकता होगी जैसे चाकू, चॉपिंग बोर्ड, फ्रूट कटर, बड़े और छोटे आकार के गिलास, कटोरी या कटोरी, चम्मच आदि।

हरिद्वार में जूस की दुकान में लगने वाली कुल लागत

जूस की दुकान खोलने के लिए आपको ज्यादा लागत की आवश्यकता नहीं पड़ेगी इसे आप लगभग 50 हजार रूपये में शुरू कर सकते हैं. लेकिन यदि आपको इसमें मशीनरी एवं फ्रिज भी लेना हैं तो इसके लिए आपको 1 लाख रूपये तक का भी निवेश करना पड़ सकता है।

यदि आपके पास इतने पैसे नहीं हैं तो आप मुद्रा लोन के लिए आवेदन देकर यह प्राप्त कर सकते हैं। इतने पैसे आपको आसानी से मिल जायेंगे।

प्रश्न: हरिद्वार में जूस की दुकान कहां खोलें?
उत्तर: केवल बाज़ार, अस्पताल, जिम, स्कूल या कॉलेज के बाहर ही आप यह दुकान खोले।

प्रश्न: आपको जूस बनाने के लिए कौन सी मशीन की आवश्यकता होगी?
उत्तर: मित्रों शुरुवात में आपको सिर्फ 3 प्रकार की जूसर मशीन और एक फ्रिज की जरूरत पड़ेगी।

प्रश्न: जूस बनाने वाली मशीन की लागत कितनी होगी?
उत्तर: वैसे तो आप कितना भी बड़ा काम शुरू कर सकते है, कितना भी निवेश कर सकते है, पर यदि केवल बुनियादी खर्च और कम से कम बजट की बात करे तो यह लगभग 50 से 70 हजार रुपये के लगभग आएगा।

प्रश्न: हरिद्वार में जूस की दुकान से कितना मुनाफा कमाया जा सकता है?
उत्तर: यह बात आपकी मेहनत, दुकान की लोकेशन, ग्राहकी की संख्या पर निर्भर करता हैं कि आप हरिद्वार में जूस के काम से कितना कमा लोगे पर एक नॉर्मल आइडिया लगाए तो कम से कम 30 से 40 हजार रुपये तक कमा सकते हैं।

2. Fruit Business – Haridwar me 1 Lakh tak Ka Kaam Kaise Shuru Kare?

दोस्तों हरिद्वार में फ्रूट का बिजनेस शुरू करने में आपको कम से कम 20 से 30 हजार तक इन्वेस्ट करना पड़ता हैं। आप खुद की दुकान में, किराए की दुकान में या फिर कोई रेहड़ी पटड़ी लगाकर फलों की दूकान खोल सकते है।

आप किसी बाइक के पीछे ट्रॉली बनाकर भी इस काम को कर सकते हैं, यदि आप खुद की दुकान खरीदना या बनवाना चाहते है तो उसके लिए आपको ज्यादा खर्च करना पड़ सकता है।

इसके अलावा अगर आप थोक में फल न लेकर, खुद ही फलों के बागान लगाना चाहते हैं तो बीज ,खाद ,मशीनों और देख रेख पर आपको इसके लिए अलग से खर्च करना पड़ता है। जो काफी अधिक बैठ सकता हैं।

मैं आपको सुझाव दूंगा कि आप फलों को खरीदकर ही बेचे ताकि आपको काम लागत व कम समय में मुनाफा मिले। इसके लिए आप सब्जी मंडी ज्वालापुर में किसी आढ़ती से कनेक्शन बना सकते हैं जिससे आपको सिर्फ 5 से दस रूपये किलों तक फल मिल जाते हैं जिन्हे फिर आप आसपास की कलोनियों में ले जाकर 50 से 60 रूपये प्रति किलों तक बेच सकते हैं।

इसके अलावा आप देहरादून, विकासनगर से लीची लाकर हरिद्वार में आसानी से डबल रूपये में बेच सकते हैं। उसके लिए आपको एक छोटे हाथी (टेम्पू) को किराये पर करके देहरादून जिले में जाना होगा और सीधे खेत से ही किसान से लिच्ची खरीदकर लानी होगी। आप हफ्ते में 2 बार यह काम कर सकते हैं।

मान लीजिये देहरादून से लिच्ची आपको लागत समेत 20 रुपये प्रति किलोग्राम पड़ती हैं तो आप उन्हें हरिद्वार शहर और आसपास की कलोनियों में 60 से 90 रूपये प्रति किलों बड़े आराम से बेच सकते हो। इसमें आपको 40 से 50 रूपये प्रति किलों यानि लागत से दुगना मुनाफा प्रतिदिन कमा सकते हैं।

और मजे की बात तो यह हैं की आपको इस बिजनेस में उधार सामान नहीं बेचना पड़ता जैसा कि अक्सर अन्य घरेलू सामान की दुकानों से लोग सामान उधार में उठा ले जाते है और बाद में पैसे नहीं देते। तो यह काम धंधा आपको घाटा नहीं देता हैं।

इसके अतिरिक्त आप सहारनपुर से आम लाकर भी हरिद्वार में बड़ी आसानी से बेच सकते हो जोकि आपको बहुत ही सस्ती दर पर मिल जायेगा यदि आप सहारनपुर जाकर खेत से सीधा किसान से फल खरीदते हो।

3. Tea Pakoda Shop – Haridwar me 1 Lakh tak Ka Kaam Kaise Shuru Kare?

हरिद्वार में सफल चॉय पकोड़ा बिजनेस

दोस्तों, आज हम जानेंगे हरिद्वार में एक लाख से कम लागत का काम टॉपिक में से चाय की दुकान का बिजनेस कैसे शुरू करें (Haridwar me Chai ka Business Kaise Kare). हम चाय कि दुकान कैसे खोलें (tea shop business plan in Haridwar hindi), लाभ मार्जिन, लागत आदि पर चर्चा करेंगे.

हरिद्वार में लगभग हर व्यक्ति अपने दिन की शुरुआत एक गर्म पेय से करता है, और अक्सर यह चाय ही होती है। चाय की दुकान को हम अपने बजट (1 lakh se Kum ka kaam In Haridwar) के अनुसार छोटी-बड़ी शुरू कर सकते हैं, जो tea shop business in Haridwarकी खासियत है. चाय के कस्टमर रोज इसे पीते हैं. नियमित कस्टमर्स के आगमन से ये बिजनेस सबसे सफल बन जाता है.

चाय व्यापार में लाभ मार्जिन कितना होता है?

मेरे दोस्तों, बेहतरीन व्यवसाय स्थान के निकट, दुकान के किराए और माहौल के आधार पर चाय को 15 रुपये या 20 रुपये में भी बेच सकता है, जिससे 10 रुपये से 16.5 रुपये का लाभ होगा. एक अच्छी और प्रतिष्ठित टी स्टाल या चाय की दुकान हरिद्वार में प्रति माह 40,000 रुपये से 1,00,000 रुपये के बीच कहीं भी आसानी से लाभ कमा सकती है।

दोस्तों हरिद्वार जैसे पवित्र स्थल पर चाय के व्यापार में लगभग 50% लाभ मार्जिन होता है, क्योंकि यहाँ हमेशा अन्य राज्यों से टूरिस्ट हजारों की संख्या में प्रिडिन आते हैं। एक कप चाय बनाने में लगभग 2 से ₹3 का खर्च होता है जबकि उसे ₹10 से लेकर के ₹20 तक बेचा जा सकता है।

हरिद्वार में चाय की दुकान कैसे शुरू करें (How to Start Tea Shop Business In Haridwar)

  1. best लोकेशन ka चयन करें
  2. संभावित कमाई एवं खर्चे का विश्लेषण करें
  3. ठेला बनायें या दुकान किराये पर लें
  4. स्थानीय प्राधिकरण से संपर्क करें
  5. गैस सिलिंडर, चूल्हा एवं बर्तन खरीदें
  6. बढ़िया चाय बनायें, पिलायें और कमायें

मित्रों हरिद्वार में एक अच्छा सा चाय का व्यवसाय शुरू करना बहुत लाभदायक हो सकता है। उचित योजना, क्रियान्वयन और कड़ी मेहनत से आप बड़ी सफलता का आनंद ले सकते हैं। धीरे धीरे होने वाले अनुभवों से आप एक सफल चाय व्यवसाय शुरू करने की कुंजी सीखेंगे। महत्वपूर्ण रूप से, चाय व्यवसाय शुरू करने में एक महत्वपूर्ण कदम अपनी व्यवसाय की सोच समझकर योजना को पूरा करना है।

चाय की दुकान का बिजनेस को शुरू करने के लिए निम्नलिखित आवश्यकताएं हैं:-

  1. चाय के लिए वेंडिंग मशीन
  2. चाय बनाने की सामग्री जैसे चायपत्ती, चीनी, दूध आदि
  3. केतली
  4. स्टोव, भट्टी
  5. छोटी कटोरी, कप
  6. चाय बनाने का पान
  7. कुर्सियाँ और मेज या बेंच

हरिद्वार चाय की दुकान का व्यवसाय शुरू करने में कितना खर्च आता है?

हरिद्वार के बाहरी इलाकों (भूपतवाला, कनखल, सिडकुल, बहादराबाद, ज्वालापुर, रुड़की, भगवानपुर, भेल और भीम गौड़ा में चाय का बिजनेस शुरू करने के लिए 50,000 रुपये का निवेश आपके लिए काफी है, जिसमें आप आसानी से एक अच्छी चाय की दुकान खोल सकते हैं। ऐसा करके आप अपने गुजारे लायक पैसा बड़ी आसानी से कमा सकते हैं।

वहीं, आपको मुख्य हरिद्वार शहर, चंडी देवी मंदिर, मनसा देवी मंदिर क्षेत्र में चाय का बड़ा बिजनेस करना है तो आप इसमें 2 से 5 लाख तक का निवेश कर सकते हैं, जो एक बेहतर बिजनेस स्थापित करने के लिए अच्छी रकम है। वही दूसरी तरफ फ्रेंचाइजी बिजनेस में चाय के महंगे ब्रांड के आधार पर यह रकम 15 से 30 लाख तक जा सकती है।

4. Hair Sloon: Haridwar me 1 Lakh tak Ka Kaam Kaise Shuru Kare?

हरिद्वार में हेयर सैलून बिजनेस Kaise Shuru Kare? – हरिद्वार शहर में हेयर सैलून खोलने में कितना पैसा लगेगा?

मित्रो इस बिजनेस में सभी प्रोडक्ट और मशीन का खर्चा और साथ ही आवश्यक टूल्स जो एक सैलून में होते हैं, वह भी खरीदने पड़ेंगे, जिनका कुल खर्चा 10 से 15 हजार हो सकता है। इस तरीके से लगभग एक लाख तक के निवेश पर आप एक अच्छा प्रोफेशनल लेवल का सैलून खोल सकते हैं। वरना लोकल सैलून तो 40 से 50 हजार के निवेश पर भी खोला जा सकता है।

हरिद्वार में हेयर सैलून बिजनेस शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको ऐसी जगह चुननी होगी, जो मार्केट के बेहद करीब हो या मार्केट के बीच में ही हो। आपके आस-पास थोड़ी अतिरिक्त जगह हो तो ज्यादा बेहतर है, ताकि लोग अपनी कार-बाइक वहां पार्क कर सकें। आपको कुछ टैलेंटेड हेयर ड्रेसर हायर करने होंगे, जो आपके लिए लोगों के बाल काटेंगे।

हेयर सैलून कितने लाभदायक हैं? हेयर सैलून में लाभ मार्जिन आश्चर्यजनक रूप से कम है। ब्लॉग द सैलून बिजनेस के अनुसार, औसत लाभ केवल $19,000 प्रति वर्ष है। ब्लॉग में कहा गया है कि औसत सैलून लाभ 8.2 प्रतिशत है, लेकिन यह केवल 2 प्रतिशत से 17 प्रतिशत तक हो सकता है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप सैलून को कितनी अच्छी तरह मैनेज करते हैं।

सैलून में कौन कौन सी सेवाएं दी जाती है? सेवाओं के प्रकार जो आप प्रदान कर सकते हैं

  1. स्पा सेंटर
  2. पारंपरिक ब्यूटी सैलून या ब्यूटी पार्लर।
  3. नाई की दुकान
  4. रिफ्लेक्सोलॉजी सेंटर
  5. स्वास्थ्य केंद्र
  6. त्वचा और बालों के लिए क्लिनिक
  7. कॉस्मेटोलॉजी सेंटर

5. Breakfast And fast food Business- हरिद्वार में ब्रेड पकोड़ा बनाने का बिजनेस

मौजूदा समय में हरिद्वार के ज्यादातर शहरी लोगों के नाश्ते में ब्रेड, पकोड़ा और छोले भटूरे का प्रमुख रूप से इस्तेमाल होती है। इसके आलावा भी कई तरह की चीजें जैसे समोसे, मटर, मट्ठी आदि तैयार की जा सकती है और आसानी से सभी जगह उपलब्ध होने के कारण इसकी लोकप्रियता भी ज्यादा है।

ऐसे में अगर आप हरिद्वार में एक लाख के बजट में कोई नया बिजनेस शुरू करने का प्लान कर रहे हैं तो आप ब्रेड पकोड़ा, छोले भटूरे और समोसे बनाने का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। बेहतर मार्केटिंग के जरिए आप अपने ब्रेड पकोड़े, समोसे और छोले भटूरे के बिजनेस को हरिद्वार में बहुत तेजी से बढ़ा सकते हैं और जबरदस्त कमाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको पहले अपने लोकल मार्केट में इसकी डिमांड और सप्लाई के सिस्टम को समझना होगा।

ब्रेकफास्ट और चाट मसाले के बिजनेस में कितनी होगी कमाई?

आजकल ब्रेड पकोड़ा, समोसा, छोले भटूरे की डिमांड बड़े शहरों से लेकर छोटे कस्बों तक सब जगह पर रहती है। ऐसे में आपका बिजनेस सक्सेस होने की पूरी संभावना है क्योंकि इसमें आपको प्रॉफिट डबल से भी ज्यादा होता हैं।

अगर हम ब्रेड पकोड़ा, समोसा या छोले भटूरे के बिजनेस से कमाई की बात करें तो ब्रेड पकोड़ा या समोसा बनाये तो आपको 4 से 5 रूपये की लागत आती हैं वहीं, इसको बनाने के लिए लागत भी काफी कम आती है यानी जबकि आप इसे आसानी से 15 से 20 तक भी बेच सकते हैं।

यदि आपकी दुकान या रेहड़ी हरिद्वार में एक अच्छी लोकेशन पर मौजूद हो तो। अर्थात दुगने से तिगने मुनाफे में बिकते हैं। अगर आप बड़े लेवल पर इसका हरिद्वार में उत्पादन करते हैं तो हर महीने लाखों रुपये कमा सकते हैं।

हरिद्वार में किराए का मकान

Haridwar me 1 Lakh tak Ka Kaam Kaise Shuru Kare?

error: Content is protected !!